Top 51+ पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी – पुण्यतिथि पर कविता

पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी: यदि आप किसी प्रियजन पुण्यतिथि श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए शायरी खोज रहे है, तो आप यह पोस्ट जरूर पढ़ें। साथ ही आप यहाँ पर पुण्यतिथि पर कविता और पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि इन हिंदी में पढ़ने वाले है।

पुण्यतिथि-पर-श्रद्धांजलि-शायरी

पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी

एक बार जाने वाले कभी लौटकर वापस नही आते,
जाने वालों की याद आती है।

Ek bar jaane wale kabhi lautakar wapas nahi ate,
Jaane walon ki yad aati hai.

एक सुरज था जो कि तारों के घराने से उठ गया,
आंखें भी हैरान है देखकर क्या शख्स था जो कि जमाने से उठ गया।

Ek suraj tha jo ki taaro ke gharane se uth gaya,
Aankhen bhi hairan hai dekhakar kya shakhs tha jo ki jamane se uth gaya.

अच्छे इंसान हमारे दिल में इस तरह जगह बना जाते है,
मरने के बाद भी अमर हो जाते है।

Acchhe insan hamare dil mein is tarah jagah bana jate hai,
Marane ke bad bhi amar ho jate hai.

वक्त के साथ सारे जख्म भर जाते है,
जो बिछड़ गए हमसे वो वापस लौटकर नही आते।

Waqt ke sath sare jakhm bhar jate hai,
Jo bichhad gae hamase wo wapas lautakar nahi aate.

जीवन की यही तो सच्ची कहानी है,
मृत्यु सबको आनी है।

Jeevan ki yahi to sacchi kahani hai,
Mrityu sabako aani hai.

आपकी याद आती है, जो हर पल बड़ा हमें सताती है।

Aapki yaad aati hai, jo har pal bada hume satati hai.

जिंदगी एक ऐसी जंग है जो सभी को हार जाना है,
इस दुनिया से नाता तोड़ कही और जाना है।

Jindagi ak aisi jang hai jo sabhi ko har jana hai,
Is duniya se nata tod kahi aur jana hai.

कभी नही लौटकर आने वाला, एक बार जाने वाला।

Kabhi nahi lautakar aane wala, ek bar jane wala.

चांद सितारे करते है आपका वंदन,
शीश झुकाकर करते है हम आपके चरणों में कोटि कोटि नमन।

Chand sitare karte hai aapka vandan,
Shish jhukakar karte hai ham aapke charanon me koti koti naman.

पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि इन हिंदी

फलक से उतरा एक सितारा,
आसमान में बन गया एक तारा।

Falak se utara ak sitara,
Aasaman me ban gaya ak tara.

अपने दिल का हाल दुसरो से बयां कर लेते है,
यही सोचकर दिल को समझा लेते है।

Apne dil ka hal dusaro se bayan kar lete hai,
Yahi sochakar dil ko samajha lete hai.

अनहोनी को कोई टाल नही सकता,
एक बार जाने वाला वापस आ नही सकता।

Anahoni ko koi tal nahi sakta,
Ak bar jane wala wapas aa nahi sakta.

फुलों जैसी जिंदगी शेर के जैसे जीकर गया,
हमें जिंदगी के इस बीच मझधार में छोड़ गया।

Phulon jaisi jindagi sher ke jaise jikar gaya,
Hamen jindagi ke is bich majhadhar me chhod gaya.

हमारी भी वो क्या तकदीर थी,
हमें हौंसला देने वाली बस एक ही तस्वीर थी।

Hamari bhi vo kya takadir thi,
Hume haunsala dene wali bas ak hi tasvir thi.

हर रिश्ते में बहुत से इंसान मिल जाएंगे,
जो इस दुनिया को अलविदा कहकर गए वो वापस नही मिल पाएंगे।

Har rishte me bahut se insan mil jayenge,
Jo is duniya ko alawida kahker gae wo wapas nahi mil payenge.

कहने को तो आप भले ही इस दुनिया से चले गए,
परंतु हमारे दिलों में तो आप बस गए।

Kahane ko to aap bhale hi is duniya se chale gaye,
Parantu hamari dilo me to aap bas gaye.

जिंदगी में आपके बिना कुछ कमी सी लगती है,
चेहरे पर मुस्कुराहट भले हो फिर भी आंखों में नमी सी लगती है,
जब से आप हमें दुनिया की इस भरी
महफिल में छोड़कर गए तब से ये जिंदगी थमी सी लगती है।

Jindagi me aapke bina kuchh kami si lagti hai,
Chehare par muskurahat bhale ho phir bhi aankhon me nami si lagti hai,
Jab se aap hume duniya ki is bhari
Mahfil me chhodkar gaye tab se ye jindagi thami si lagti hai.

बहुत ही याद आते है,
बहुत कम लोग होते है मरकर भी अमर हो जाते है।

Bahut hi yaad aate hai,
Bahut kam log hote hai marker bhi amar ho jaate hai.

पुण्यतिथि पर कविता

कोई शख्स दिलों में इस तरह बस जाता है,
मर कर भी अमर हो जाता है,
भुलकर भी नही भुला सकते,
इस तरह हमारे जीवन में सफर कर जाता है।

Koi shakhs dilon me is tarah bas jata hai,
Mar kar bhee amar ho jaata hai,
Bhulaker bhi nahi bhula sakte,
Is tarah hamare jivan me safar kar jata hai.

वक्त के साथ ना चाहते हुए भी आगे बढ़ना पड़ जाता है,
समय के साथ जख्म भर जाता है,
आपकी कमी खलती है ये खालीपन हर पल सताता है,
यादें समेटे ये वक्त यूं ही गुजर जाता है,
आपकी कमी को पुरा कैसे करें क्योकि आपका मुस्कुराता चेहरा याद आ ही जाता है।

Vakt ke sath na chahte hue bhi age badhana pad jata hai,
Samay ke sath jakhm bhar jata hai,
Aapki kami khalati hai ye khalipan har pal satata hai,
Yaden samete ye vakt yun hi gujar jata hai.
Aapki kami ko pura kaise karen kyoki aapka muskurata chehara yaad aa hi jata hai.

जन्म मृत्यु तो नियम है इस पृथ्वी का,
यदि आया है तो जाना पड़ेगा,
कोई नही बदल सकता यह नियम संसार का,
अकेले आये है अकेले ही जाना पड़ता,
नही होता है यहां कोई किसी का,
बस आपकी याद में ऐसे ही जीवन जीएगे,
आपका मुस्कुराता चेहरा याद आ ही जाता है।

Janm mratyu to niyam hai is prathvi ka,
Yadi aaya hai to jana padega,
Koi nahi badal sakta yah niyam sansar ka,
Akele aaye hai akele hi jana padta hai,
Nhi hota hai yha koi kisi ka,
Bas aapki yaad me aise hi jivan jiaege,
Aapka muskurata chehara yaad aa hi jata hai.

सुना हो गया ये घर आंगन आपके चले जाने से,
बदल जाती है प्रकृति की रुह मौसम के आने से,
आपकी यादों के सहारे अपना जीवन बिताये कैसे,
आपका मुस्कुराता चेहरा याद आ ही जाता है।

Suna ho gaya ye ghar aangan aapke chale jane se,
Badal jati hai prakrti ki ruh mausam ke aane se,
Aapki yaadon ke sahare apna jivan bitaye kaise,
Aapka muskurata chehara yaad aa hi jata hai.

यहाँ पर साझा की गयी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी या पुण्यतिथि पर कविता को आप अपने प्रियजन को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है। हमें आशा है पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि इन हिंदी पर साझा की गयी यह पोस्ट आपको पसंद आयी होगी।

Leave a Comment