Best 150+ अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी 2022

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी : कई बार ऐसा होता है हमें हमारे अपने ही धोखा दे जाते है। इसलिए आज की पोस्ट हम अपनों से धोखा शायरी और स्टेटस पर लेकर आये है, जिन्हें आप नीचे पढ़ सकते है।

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी

अपने होने का हक जताते है,
पर अक्सर अपने ही धोखा दे जाते है।

Apne hone ka hak jatate hai,
Par aksar apne hi dhokha de jate hai.

अपनों-से-धोखा-शायरी-इन-हिंदी (1)
अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी

 

सबसे ज्यादा भरोसा अपनो पर ही होता है,
हमारा अपना ही धोखेबाजी पर उतारू हो जाता है।

Sabse jyada bharosa apno par hi hota hai,
Hamara apna hi dhokhebaji par utaru ho jata hai.

जब हमारा अपना धोखा देता है,
तो ये दिल अंदर से रोता है।

Jab hamara apna dhokha deta hai,
To ye dil andar se rota hai.

हमारे अपने ही हमें यूज करते है,
दुसरो का सहारा लेकर हमें कंफ्यूज करते है।

Hamare apne hi hume use karte hai,
Dusaro ka Sahra lekar hume confuse karte hai.

हमारे पास कुछ भी नही बोलने का होता है मौका,
जब हमें हमारे अपने ही देते है धोखा।

Hamare pas kuchh bhi nahi bolne ka hota hai mauka,
Jab hume hamare apne hi dete hai dhokha.

अपनों के प्रति मन मे नफरत आई ​है,
अपनों से धोखा खाने के बाद ही मुझमें हिम्मत आई है।

Apno ke prati man me nafarat aai ​hai,
Apno se dhokha khahne ke bad hi mujhme himmat aai hai.

कहने को तो अपने तो अपने होते है,
मगर स्वार्थ में अपने ही धोखा देते है।

Kahne ko to apne to apne hote hai,
Magar swarth me apne hi dhokha dete hai.

हर रिश्ता दिल के करीब होता है,
अपनों को धोखा देना इनका नसीब होता है।

Har rishta dil ke karib hota hai,
Apno ko dhokha dena inka nasib hota hai.

हमारे अपने हमारे साथ अच्छे से रह रहे है,
लगता है पीठ पीछे हमसे धोखेबाजी कर रहे है।

Hamare apne hamare sath achchhe se rah rahe hai,
Lagta hai pith pichhe humse dhokhebaji kar rahe hai.

पता नही हमारे साथ क्या होता है,
जब हमारा अपना धोखा देता है।

Pata nahi hamare sath kya hota hai,
Jab hamara apna dhokha deta hai.

जिंदगी में कभी खुशी मिलती है तो कभी गम मिलते है,
यहां अपने से धोखे सरेआम मिलते है।

Zindagi me kabhi Khushi milti hai to kabhi gam milte hai,
Yahan apne se dhokhe sareaam milte hai.

कहने को तो हर एक रिश्ता बड़ा ही अनोखा होता है,
धोखा देना का अपनो का मौका होता है।

Kahne ko to har ak rishta bada hi anokha hota hai,
Dhokha dena ka apno ka mauka hota hai.

एक बार धोखा खाने से हमारे सारे सपने टूट जाते है,
बल्कि हम और अधिक मजबूत हो जाते है।

Ak bar dhokha khane se hamare sare sapne tut jate hai,
Balki hum aur adhik majabut ho jate hai.

दुसरो की आड़ में अपने ही धोखे की हद पार कर जाते है,
हमे अकेला ही छोड़ जाते है।

Dusaro ki aad me apne hi dhokhe ki had par kar jate hai,
Hume akela hi chhod jate hai.

जब अपने ही हमें चोट दे जाते है,
पता नही जाने क्यो अपने ही अपनो से धोखा कर जाते है।

Jab apne hi hume chot de jate hai,
Pata nahi jane kyo apne hi apno se dhokha kar jate hai.

यह पढ़ें: झूठे मतलबी रिश्ते शायरी

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी Sms

दुनिया में सब कुछ सपना लगता है,
अक्सर धोखा वही देता है जो अपना होता है।

Duniya me sab kuchh sapna lagta hai,
Aksar dhokha wahi deta hai jo apna lagta hai.

अपनों-से-धोखा-शायरी-इन-हिंदी (2)
अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी Sms

 

अपनों से मिली धोखेबाजी को छोड़ अपना भी एक दिन नाम होगा,
ऐसे धोखेबाजों को मेरा दूर से ही सलाम होगा।

Apno se mili dhokhebaji ko chhod apna bhi ak din nam hoga,
Aise dhokhebajo ko mera dur se hi salam hoga.

पहले सुना था कि लोग धोखेबाज और झुठे निकल जाते है,
आज अपनो से धोखा खाने के पता चल गया है।

Pahle suna tha ki log dhokhebaj aur jhuthe nikal jate hai,
Aaj apno se dhokha khane ke pata chal gaya hai.

अपनों से धोखा खाने के बहुत ही पछतावा होता है,
पछतावा करने का क्या मतलब तब तक समय हाथ से निकल गया होता है।

Apano se dhokha khane ke bahut hi pachhatava hota hai,
Pachhatawa karne ka kya matalab tab tak samay hath se nikal gaya hota hai.

दुसरो के बहाने जब अपने ही धोखा दे जाते है,
दिल पर गहरा जख्म छोड़ जाते है।

Dusaro ke bahane jab apne hi dhokha de jate hai,
Dil par gahara jakhm chhod jate hai.

धोखे ने हमें बहुत कुछ सीखा दिया है,
अपनो के साथ कैसा व्यवहार करना सीखा दिया है।

Dhokhe ne hume bahut kuchh sikha diya hai,
Apano ke sath kaisa vyavahar karna sikha diya hai.

धोखा खाने के बाद ही समझ आती है,
क्योंकि अपनो की बुद्धि बदल जाती है।

Dhokha khane ke bad hi samajh aati hai,
Kyonki apno ki buddhi badal jati hai.

हर किसी का अपना सूरुर होता है,
धोखेबाजी करना उनका गुरुर होता है।

Har kisi ka apna surur hota hai,
Dhokhebaji karna unka gurur hota hai.

जिंदगी में हर दर्द की भी अपनी कहानी होती है,
अपनों को धोखा देना लोगो की निशानी होती है।

Jundagi me har dard ki bhi apani kahani hoti hai,
Apno ko dhokha dena logo ki nishani hoti hai.

लोग हमारा इस्तेमाल करते है,
हमसे गद्दारी सरेआम करते है।

Log hamara istemal karte hai,
Humse gaddari sareaam karte hai.

हमारी खामोशी को हमारा मजाक समझने की भुल मत करना,
धोखा देने के बाद हमें हल्के में लेने की भूल गलती से भी मत करना।

Hamari khamoshi ko hamara majak samajhane ki bhul mat karna,
Dhokha dene ke bad hume halke me lene ki bhul galti se bhi mat karna.

लोगो की भी अपनी एक अलग ही कहानी है साहब,
अपनों को धोखा देना उनकी जिंदगानी है साहब।

Logo ki bhi apni ak alag hi kahani hai sahab,
Apno ko dhokha dena unki zindagani hai sahab.

सही से आंखों से आंसू भी नही निकल पाते है,
जब हमारा अपना कोई ऐसी हरकत कर जाते है।

Sahi se aankhon se aansu bhi nahin nikal pata hai,
Jab hamara apna koi aisi harkat kar jate hai.

अब तो दुसरो की अपना बनना भी अच्छा नही होता है,
पता नही कब कौन धोखेबाज बन जाता है।

Ab to dusaro ki apna banana bhi achchha nahi hota hai,
Pata nahi kab kaun dhokhebaj ban jata hai.

Final Words: आशा है आपको लोगो को अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी पर साझा की गयी हमारी ये पोस्ट पसंद आयी होगी। आप चाहे तो यहाँ पर साझा की गयी अपनों से धोखा शायरी को आप अपने फेसबुक या व्हाट्सप्प स्टेटस पर रख सकते है।

यह पढ़ें: स्वार्थी लोग मतलबी रिश्ते शायरी

Leave a Comment