Top 50+ जिसकी माँ नहीं होती शायरी – माँ की याद में पंक्तियाँ

जिसकी माँ नहीं होती शायरी – यह पोस्ट स्वर्गीय माँ पर शायरी पर लिखी गयी है, जिसमें माँ की याद में शायरी और माँ की याद में पंक्तियाँ लिखी गयी है। जिन्हें आप अपनी माता के गुजर जाने या माँ के चले जाने के बाद माँ की याद में स्टेटस के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते है।

जिसकी माँ नहीं होती शायरी

माँ के सिवा सिर पर हाथ फेरने वाला और कोई नहीं होता,
जिसकी माँ नहीं होती उसे संभालने वाला कोई नहीं होता।

Maa ke siva sir par hath ferne wala koi nahi hota,
Jiski maa nahi hoti use sambhalne wala koi nahi hota.

जिसकी-माँ-नहीं-होती-शायरी (1)
जिसकी माँ नहीं होती शायरी

 

जिनके सिर पर दुआ होती है,
बड़े ही किस्मत वाले होते है जिनकी मां होती है,
जिंदगी कैसे गुजरती है मां के बिना,
उनसे पुछो जिनकी मां नही होती है।

Jinke sir par dua hoti hai,
Bade hi kismat wale hote hai jinki ma hoti hai,
Zindagi kaise gujrati hai unse puchho,
jinki ma nahi hoti hai.

जिंदगी में ऐसा दिन कभी ना आए,
जब मां हमसे इतनी दूर हो जाए कि वापिस लौटकर न आए।

Zindagi me aisa din kabhi na aaye,
Jab ma humse dur itni dur ho jaye ki wapis kabhi lautaker na aaye.

मां के क्या मायने है ये उनसे पुछो जिनकी मां नही होती है,
सुबह आंख खुलते ही मां की याद आती है।

Ma ke kya mayne hai ye unse puchho jinki ma nahi hoti hai,
Subah aankh khulte hi ma ki yad aati hai.

मां के सिवा मेरे लिए कुछ भी खास नही,
मां के बिना कुछ भी पास नही।

Ma ke siwa mere liye kuchh bhi khas nahi,
Ma ke bina kuchh bhi pas nahi.

मां को छोड़ में ईधर उधर भाग जाता था,
आज पता चला मैं अपनी मां को कितना दौड़ाता था।

Ma ko chhod me idhar udhar bhag jata tha,
Aaj pata chala ma apni ma ko kitna daudta tha.

जिसकी माँ नहीं होती शायरी In Hindi

ये घर परिवार सब कुछ बिखरा सा लगता है,
मां के बिना सब कुछ अधुरा सा लगता है।

Ye ghar pariwr sab kuchh bikhara sa lagta hai,
Ma ke bina sab kuchh adhura sa lagta hai.

मुझे एक पल के लिए भी नही अपनी आंखों से दूर होने देती थी,
मेरी मां ही थी जो मुझसे इतना प्यार करती थी।

Mujhe ak pal ke liye bhi nahi apni aankhon se dur hone deti thi,
Meri ma hi thi jo mujhse itna pyar karti thi.

मां सोती थी हमने लोरियां सुनाकर सुलाने के बाद,
मां की बहुत याद आती है चले जाने के बाद।

Ma soti thi hamne loriyan sunaker sulane ke bad,
Ma ki bahut yad aati hai chale jane ke bad.

मां के बिना जाने कैसा हाल होता होगा,
जिनकी मां नही होती उनका क्या होता होगा।

Ma ke bina jane kaisa hal hota hoga,
Jinki ma nahi hoti unka kya hota hoga.

वो जीवन बर्बाद है,
जिनकी मां नही है उनका बुरा हाल है।

Wo jervan barbad hai,
Jinki ma nahi hai unka bura hal hai.

जब मैं रोता था रोने नही देती थी,
कभी भुखे पेट सोने नही देती थी,
मेरी फ़िक्र करने वाली मेरी प्यारी मां थी।

Jab mai rota tha rone nahi deti thi,
Kabhi bhukhe pet sone nahi deti thi,
Meri fikra karne wali meri pyari ma thi.

माँ की याद में पंक्तियाँ

कभी माँ की गोदी में सिर रखकर नींद आती थी,
आज माँ को याद करते करते नींद आती है।

Kabhi maa ki godi me sir rakhker nind aati thi,
Aaj maa ko yaad karte karte nind aati hai.

जिसकी-माँ-नहीं-होती-शायरी (2)
माँ की याद में पंक्तियाँ

 

न जाने मुझे नही अच्छा सा लगता है,
मां के जाने के बाद अकेलापन सा लगता।

Na jane mujhe nahi achchha sa lagta hai,
Ma ke jane ke bad akelapan sa lagta.

जिनकी मां है उन्हें मां की कदर नही होती है,
आखिरकार मां की कदर उन्हें है जिनकी मां नही होती है।

Jinki ma hai unhe ma ki kadar nahi hoti hai,
Askhirkar ma ki kadar unhe hai jinki ma nahi hoti hai.

मेरी मां की एक दुआ ने मेरी जिंदगी बन जाती है,
जिनकी मां नही होती उनकी सारी जिंदगी बिखर जाती है।

Meri ma ki ak dua ne meri zindagi ban jati hai,
Jinki ma nahi hoti unaki sari zindagi bikhar jati hai.

जिंदगी में इंसान को सब कुछ मिल जाता है,
परन्तु एक मां नही मिल पाती है।

Zindagi me insan ko sab kuchh mil jata hai,
Parantu ak ma nahi mil pati hai.

आज भले ही सारी खुशियां मिल गई,
परन्तु खुशियां का जश्न मनाने वाली मां नही है।

Aaj bhale hi sari khushiyan mil gai,
Parantu khushiyan ka jashn manane wali ma nahi hai.

जिंदगी का हर सफर आसान लगता था,
जब मेरी मां की दुआओं का असर होता था,
आज सब कुछ कठिन सा लगता है क्योंकि सिर पर मां का आशीर्वाद नही है।

Zindagi ka har safar aasan lagta tha,
Jab meri ma ki duaon ka asar hota tha,
Aaj sab kuchh kathin sa lagta hai kyonki sir par ma ka aashirvad nahi hai.

माँ की याद में पंक्तियाँ या लाइनें

मां के साथ बिताया हर पल सपना सा लगता था,
जिनकी मां नही होती उनके लिए जिंदगी का हर पल अधुरा सा लगता है।

Ma ke sath bitaya har pal sapna sa lagta tha,
Jinki ma nahi hoti unke liye zindagi ka har pal adhura sa lagta hai.

हमें जब छोटी छोटी बातों पर गुस्सा आया करता था,
तब मां मनाकर अपने हाथों से रोटी खिलाया करती थी,
मुझे मां की बहुत याद आया करती है।

Hume jab chhoti chhoti baton par gussa aaya karta tha,
Tab ma manaker apne hathon se roti khilaya karti thi,
Mujhe ma ki bahut yad aaya karti hai.

मां की ममता से बहुत सुकून मिलता था,
आज सुकून देने वाली मां नही है।

Ma ki mamta se bahut sukun milata tha,
Aaj sukun dene wali ma nahi hai.

मेरी मां हमेशा ही कहती थी,
जरुरत पड़ने पर कोई साथ नही देगा,
तब समझ कहा आता था,
आज मां की सारी सिखायी बातें याद आती है।

Meri ma hamesha hi kahti thi,
Jarurat padne par koi sath nahi dega,
Tab samajh kaha aata tha,
Aaj ma ki sari sikhayi baten yad aati hai.

मां के बिना हर कदम रखना कितना मुश्किल हो जाता है,
ये उन्हें समझ आता है जिनकी मां नही होती है।

Ma ke bina har kadam rakhana kitna mushkil ho jata hai,
Ye unhe samajh aata hai jinki ma nahi hoti hai.

मां के बिना आज मेरा कैसा बुरा हाल है,
बस मेरा रब से एक ही सवाल है।

Ma ke bina aaj mera kaisa bura hal hai,
Bas mera rab se ak hi sawal hai.

Final Words – यह पोस्ट माँ की याद में शायरी, जिसकी माँ नहीं होती शायरी और माँ की याद में पंक्तियाँ पर लिखी गयी है, आशा है ये पोस्ट आपको पसंद आयी होगी।

यह पढ़ें – पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी

Leave a Comment