Top 51+ रिश्ते निभाने पर शायरी – Rishte Nibhane Par Shayari

अगर आप रिश्ते निभाने पर शायरी की तलाश में है तो यह पोस्ट आपके लिए है यहाँ पर रिश्ते निभाने पर खूबसूरत शायरी और स्टेटस आपके साथ लिखकर साझा किये गए है, जिन्हें आप 2 Line में पढ़ सकते है।

रिश्ते निभाने पर शायरी

रिश्तों की नींव विश्वास से ही मजबूत होती है,
बिना विश्वास के नींव कमजोर हो जाती है।

Rishton ki niv Vishwas se hi majbut hoti hai,
Bina vishwas ke niv kamjor ho jati hai.

अनमोल-रिश्ते-शायरी (3)

रिश्तों कमजोर वही होता है,
जहां विश्वास नही होता है।

Rishton kamjor wahi hota hai,
Jahan vishwas nahi hota hai.

अब तो रिश्तों के मायने बदल रहे है,
कुछ रिश्ते स्वार्थ पर चल रहे है।

Ab to rishton ke mayne badal rahe hai,
Kuchh rishte swarth par chal rahe hai.

जिन्हें जिंदगी की एहमियत पता नही होती है,
उन्हें रिश्तों की किमत पता नही चलती है।

Jinhe zindagi ki ahamiyat pata nahi hoti hai,
Unhen rishton ki kimat pata nahi chalti hai.

दिल के रिश्ते यूं ही नही बनते,
जब बनते है तो बहुत ही खास बनते है।

Dil ke rishte yun hi nahi bante,
Jab bante hai to bahut hi khas bante hai.

वही रिश्ता खास होता है,
जो दिल का होता है।

Wahi rishta khas hota hai,
Jo dil ka hota hai.

वही रिश्ते अक्सर टुट जाते है,
वो गलतफहमी भरे होते है।

Wahi rishte aksar tut jate hai,
Wo galatfehmi bhare hote hai.

आजकल रिश्ते जररूत के लिए होते है,
जररूत पुरी होने पर अपने आप टुट जाते है।

Aajkal rishte jarurat ke liye hote hai,
Jarurat puri hone par apne aap tut jate hai.

जिस पर भरोसा किया जाए ऐसा कोई शख्स नही,
रिश्तों को निभाने के लिए लोगों के पास वक्त नही।

Jis par bharosa kiya jaye aisa koi shakhs nahi,
Rishton ko nibhane ke liye logon ke pas waqt nahi.

रिश्तों की पहचान यही होती है,
जहां सच्चाई छुपाई नही जाती है।

Rishton ki pahchan yahi hoti hai,
Jahan sachchai chupai nahi jati hai.

Final Words – हमें आशा है कि रिश्ते निभाने पर शायरी लिखी गई आपको पसंद आई होगी, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आती है तो आप इसे अपने दोस्तों से शेयर कर सकते हो।

Also Read: Tareef Shayari For Wife

Also Read: Tareef Shayari For Husband

Leave a Comment