Best 150+ दोगले लोग शायरी स्टेटस और कोट्स 2022

दोगले लोग शायरी – कुछ लोग ऐसे होते है जो बहुत दोगले होते है, ऐसे ही लोगो के लिए हम यहाँ दोगले लोगों पर शायरी और स्टेटस इस पोस्ट में साझा कर रहे है।

दोगले लोग शायरी | दोगले लोग स्टेटस

अब जमाना दोगलो का चल रहा है,
इसलिए लोगों को बदनाम कर रहा है।

Ab jamana dogalo ka chal raha hai,
Isliye logon ko badnam kar raha hai.

दोगले-लोग-शायरी (1)

गलत संगति का असर गलत होता है,
दोगले लोगो का साथ करने की वजह से नुकसान होता है।

Galat sangati ka asar galat hota hai,
Dogale logo ka sath karne ki wajah se nukasan hota hai.

हम तो नही जानते है कि कौन गलत कौन सही,
जहां देखा दोगले लोगो की कोई कमी नही।

Hum to nahi janate hai ki kaun galat kaun sahi,
Jahan dekha dogale logo ki koi kami nahi.

दोगले की यही तो औकात होती है,
उनमें इंसानियत वाली कोई न बात होती है।

Dogale ki yahi to aukat hoti hai,
Unmen insaniyat wali koi na bat hoti hai.

लोगो की अपनी एक शान होती है,
दोगले लोगो की अलग ही पहचान होती है।

Logo ki apni ak shan hoti hai,
Dogale logo ki alag hi pahchan hoti hai.

दोगले लोगो का है जमाना,
लोगो के सामने खुद को अच्छा दिखाना।

Dogale logo ka hai jamana,
Logo ke samane khud ko achchha dikhana.

दुनिया में अलग अलग होते है त्यौहार,
दोगले लोगो करते है अपने मतलब का व्यवहार।

Duniya me alag alag hote hai tyauhar,
Dogale logo karte hai apne matalab ka vyavahar.

दोगले लोग जितना इज्जत देते है,
उतनी ही तकलीफ भी देते है।

Dogale log jitna ijjat dete hai,
Utani hi taklif bhi dete hai.

लोगो का एक ही फसाना है,
जरुरत के लिए अच्छे लोगो को दोस्त बनाना है।

Logo ka ak hi phasana hai,
Jarurat ke liye achchhe logo ko dost banana hai.

मतलब के लिए दुसरो से काम निकालता है,
वो दोगले लोगो में आता है।

Matalab ke liye dusaro se kam nikalata hai,
Wo dogale logo me aata hai.

दोस्ती के नाम पर हमसे दगा कर गया,
दोगला अपनी पहचान दिखा गया।

Dosti ke nam par humse daga kar gaya,
Dogala apni pahchan dikha gaya.

दुनिया में लोग होते है कितने दोगले,
अपनेपन का ढोंग रचते।

Duniya me log hote hai kitne dogale,
Apnepan ka dhong rachate.

कभी भी अच्छे और सच्चे दोस्त दोगले नही होते है,
दोगले लोग कभी भी अच्छे दोस्त नही होते है।

Kabhi bhi achchhe aur sachche dost dogale nahi hote hai,
Dogale log kabhi bhi achchhe dost nahi hote hai.

आपने दुनिया नही देखी कैसी होती है,
यहां पर दोगलो की कोई नही कमी होती है।

Aapne duniya nahi dekhi kaisi hoti hai,
Yahan par dogalo ki koi nahi kami hoti hai.

कुछ लोग विश्वास कर के धोखा खा जाते है,
दोगले लोग अपना मतलब निकालकर भूल जाते है।

Kuchh log vishwas kar ke dhokha kha jate hai,
Dogale log apna matalab nikalaker bhul jate hai.

धीरे धीरे ही सही लोग हमें समझ आने लगे,
दोगले लोग हमारे करीब आने लगे।

Dhire dhire hi sahi log hume samajh aane lage,
Dogale log hamare karib aane lage.

यह पढ़ें: मतलबी घटिया लोगों पर शायरी

दोगले लोग स्टेटस | दोगले लोग शायरी

एक अच्छा रिश्ता जिंदगी बना देता है,
दोगले लोगो से रिश्ता जिंदगी बर्बाद कर देता है।

Ak achchha rishta zindagi bana deta hai,
Dogale logo se rishta zindagi barbad kar deta hai.

दोगले-लोग-शायरी (2)

दुनिया में दोगले के भी कैसे चेहरे होते है,
कोई नही तेरे, कोई नही मेरे होते है।

Duniya me dogale ke bhi kaise chehre hote hai,
Koi nahi tere, koi nahi mere hote hai.

देखने को तो लोग अलग होते है,
दोगले अलग ही दिखते है।

Dekhane ko to log alag hote hai,
Dogale alag hi dikhate hai.

दोगले लोगो की औकात के बारे में क्या कहना,
वो किसी भी वक्त पहना सकते है धोखेबाजी का गहना।

Dogale logo ki aukat ke bare me kya kahna,
Wo kisi bhi wakt pahna sakte hai dhokhebaji ka gahna.

दोगले लोगो के बहुत ही नखरे है,
वो ये नही देखते उनके सामने कौन खड़े है।

Dogale logo ke bahut hi nakhare hai,
Wo ye nahi dekhate unke samane kaun khade hai.

पहनावा चाहे कितना भी किमती हो सकता है,
परंतु दोगले लोग अपना चेहरा नही छुपा सकता है।

Pahnawa chahe kitna bhi kimati ho sakta hai,
Parantu dogale log apna chehra nahi chhupa sakta hai.

दोगले लोगो के चेहरे पर अलग ही रुवानी होती है,
लोगो के साथ झूठ बोलना इनकी जुबानी होती है।

Dogale logo ke chehre par alag hi ruvani hoti hai,
Logo ke sath jhuth bolna inki jubani hoti hai.

मुंह के सामने कुछ कहना,
पीठ पीछे कुछ और कहना,
ऐसे दोगले लोगो के बारे में क्या कहना।

Munh ke samane kuchh kahna,
Pith pichhe kuchh aur kahna,
Aise dogale logo ke bare me kya kahna.

कहने को तो सब मेरे है,
दोगले लोगो के अलग ही चेहरे है।

Kahane ko to sab mere hai,
Dogale logo ke alag hi chehre hai.

दोगले लोगो की ही जुबानी,
उनकी होती है औरो से अलग कहानी।

Dogale logo ki hi jubani,
Unki hoti hai auro se alag kahani.

हम लोगों के सामने मुस्कुराते है,
लोग इतने दोगले होते है कि हमे धोखा देकर ठुकराते है।

Hum logon ke samane muskurate hai,
Log itane dogale hote hai ki hume dhokha dekar thukarate hai.

मन मे बेईमानी और जुबान पर मीठे बोलते है
दोगले ही ऐसा रंग बदलते है।

Man me beimani aur juban par mithe bolate hai
Dogale hi aisa rang badlate hai.

लोगो की कमियां हमे‌ गिना रहे है,
दोगले ही अब हमे दोस्ती करना सिखा रहे है।

Logo ki kamiyan hume‌ gina rahe hai,
Dogale hi ab hume dosti karna sikha rahe hai.

दोगले मे क्या होती है खुबानी,
सुनो अब लोगो की जुबानी।

Dogale me kya hoti hai khubani,
Suno ab logo ki jubani.

ऐसे बात बात पर हमे‌ गैर बताते है,
वे दोगले होते है जो हमे घटियापन दिखाते है।

Aise bat bat par hume‌ gair batate hai,
We dogale hote hai jo hume ghatiyapan dikhate hai.

बस इतना ही है हमे कहना,
दोगले लोगो से बचकर रहना।

Bas itna hi hai hume kahna,
Dogale logo se bachaker rahna.

दोगले पहले खुद ही जख्म देते है,
बाद में अपनेपन का नाटक करते है।

Dogale pahle khud hi jakhm dete hai,
Bad me apnepan ka natak karte hai.

Final Words – हमें यकीन है आपको यहां लिखे दोगले लोग शायरी और स्टेटस अच्छे लगे होंगे, आप यहाँ से इस शायरी को कॉपी करके अपने स्टेटस पर भी लगा सकते है।

यह पढ़ें: स्वार्थी लोग मतलबी रिश्ते शायरी

Leave a Comment