Best 150+ किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी और कविता

किसी व्यक्ति की तारीफ में शब्द – यहाँ पर किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी, किसी की तारीफ में कुछ शब्द, किसी की तारीफ में कुछ लाइन और किसी व्यक्ति की तारीफ में कविता साझा की गयी है।

किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी

तेरे जैसे इस दुनिया में कम है,
तेरी तारीफ में आंखें नम है।

Tere jaise is duniya me kam hai,
Teri tarif me aankhen nam hai.

किसी-व्यक्ति-की-तारीफ-में-शायरी (1)

तेरी तारीफ में बोलते बोलते लफ्जों की कमी हो जाती है,
लिखते लिखते कलम चलना बंद हो जाती है।

Teri tarif me bolate bolate lafzon ki kami ho jati hai,
Likhate likhate kalam chalana band ho jati hai.

हम कैसे बयां करें उनकी शख्सियत,
उनमें बहुत सी है खासियत।

Hum kaise bayan kare unki shakhsiyat,
Unme bahut si hai khasiyat.

हम उनकी तारीफ के फुल बांधते रह गए,
पता नही कब वो हमारी नजरों में समा गए।

Hum unaki tarif ke phul bandhate rah gaye,
Pata nahi kab wo hamari nazaron me sama gaye.

खुद की तारीफ तो सब करते है,
अपनी तारीफ तो दुसरो करते है।

Khud ki tarif to sab karte hai,
Apni tarif to dusaro karte hai.

उनकी तारीफ क्या करें सोचते रह गए,
तारीफ में क्या लिखे शब्द कम पड़ गए।

Unki tarif kya kare sochate rah gaye,
Tarif me kya likhe shabd kam pad gaye.

हम क्या तारीफ करे तुम बहुत खुबसूरत हो,
तुम तो मेरे दिल में बसी मुरत हो।

Hum kya tarif kare tum bahut khubasurat ho,
Tum to mere dil me basi murat ho.

शायर की शायरी में बहुत ही है दम,
तेरे बारे में जितनी तारीफ करूं उतनी है कम।

Sayari ki shayai me bahut hi hai dam,
Tere bare me jitni tarif karun utani hai kam.

नींद हमें आती नही है,
तेरे चेहरे की सादगी हमें सोने नही देती है।

Nind hume aati nahi hai,
Tere chehre ki sadagi hume sone nahi deti hai.

समय चलता रहा है जिंदगी के दिन कम हो गए,
उसकी तारीफ में लफ्ज कम हो गए।

Samay chalata raha hai zindagi ke din kam ho gaye,
Uski tarif me lafz kam ho gaye.

जहां जाऊं वहां तेरे बारे में तारीफ की जाए,
सोचता हूं कही सुनने वाला कही मदहोश न हो जाए।

Jahan jaun wahan tere bare me tarif ki jaye,
Sochata hoon kahi sunne wala kahi madhosh na ho jaye.

तेरी तारीफ में क्या कहूं हमदम,
तेरी मासुमियत देखकर होश खो देते है हम।

Teri tarif me kya kahun humdam,
Teri masumiyat dekhakar hosh kho dete hai hum.

ये दुनिया बहुत ही लगती है प्यारी,
उसकी तारीफ क्या करूं उसमें खुबियां है सारी।

Ye duniya bahut hi lagti hai pyari,
Uski tarif kya karun usme khubiyan hai sari.

हम उनकी तारीफ में कहते रह गए,
लोग सुनकर वाह वाह करते रह गए।

Hum unaki tarif m kahte rah gaye,
Log sunker wah wah karte rah gaye.

तारीफ शब्दों की कभी भी मोहताज नही होती,
कुछ भी कहने से उसकी मासुमियत बयां नही होती।

Tarif shabdon ki kabhi bhi mohtaj nahi hoti,
Kuchh bhi kahne se uski masumiyat bayan nahi hoti.

इस दुनिया में सब कुछ पाना आसान होता है,
तेरे जैसा बहुत अच्छा यार पाना बहुत ही मुश्किल होता है।

Is duniya me sab kuchh pana aasan hota hai,
Tere jaisa bahut achchha yar pana bahut hi mushkil hota hai.

किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी हिंदी, किसी की तारीफ में कुछ शब्द, किसी व्यक्ति की तारीफ में कविता, किसी की तारीफ में कुछ लाइन।

यह पढ़ें: सुंदरता की तारीफ के लिए शब्द

किसी व्यक्ति की तारीफ में शब्द

तुम्हारी सुंदरता की तारीफ करना ख्वाहिश है हमारी,
जितनी तारीफ करूं उतनी कम है तुम्हारी।

Tumhari sundarta ki tarif karna khwahish hai hamari,
Jitni tarif karun utni kam hai tumhari.

किसी-व्यक्ति-की-तारीफ-में-शायरी (2)

हर बात से वाकिफ हो,
तुम तारीफ करने के काबिल हो।

Har bat se wakif ho,
Tum tarif karne ke kabil ho.

उसके बोलने के अंदाज ने हमें सब कुछ करवा दिया,
उसकी तारीफ ने क्या करें हमें सब कुछ भुला दिया।

Uske bolne ke andaj ne hume sab kuchh karwa diya,
Uski tarif ne kya karen hume sab kuchh bhula diya.

कितना सुंदर सा चेहरा तुम्हारा,
चांद भी मेरे यार दीवाना तुम्हारा।

Kitna sundar sa chehra tumhara,
Chand bhi mere yar diwana tumhara.

तुम्हारी तारीफ करने के लिए हमारे पास कोई अल्फाज नही होते,
तुम मेरे यार फरिश्ता हो जो हर किसी की किस्मत में नही होते।

Tumhari tarif karne ke liye hamare pas koi alfaz nahi hote,
Tum mere yaar farishta ho jo har kisi ki kismat me nahi hote.

हाथों की लकीरें तकदीर बन जाती है,
तेरे जैसा इतना अच्छा यार हो तो जिंदगी संवर जाती है।

Hathon ki lakire takadir ban jati hai,
Tere jaisa itna achchha yar ho to zindagi sanwar jati hai.

हमे नही है कोई भी गम,
मेरे यार तेरी तारीफ नही है कम।

Hume nahi hai koi bhi gam,
Mere yar teri tarif nahi hai kam.

तेरे होठों की हंसी हमें अच्छी लगती है,
दुसरो के मुंह से सुनी तेरी तारीफ सच्ची लगती है।

Tere hothon ki hansi hume achchhi lagti hai,
Dusaro ke munh se suni teri tarif sachchi lagti hai.

दुनिया में कही खलबली मची है,
तेरा चेहरा देखकर लोगों के दिल में हड़बड़ी मची है।

Duniya me kahi khalabali machi hai,
Tera chehra dekhaker logon ke dil me hadbadi machi hai.

दुर रहने के बाद भी हम तुम्हारी खबर रखते है,
मेरे यार आज भी हम तुम्हारी कदर करते है।

Dur rahne ke bad bhi hum tumhari khabar rakhate hai,
Mere yar aaj bhi hum tumhari kadar karte hai.

तुझे पाकर मुझे जन्नत सी मिल गई,
तेरे साथ पाकर मेरी जिंदगी संवर गई।

Tujhe pakar mujhe jannat si mil gayi,
Tere sath pakar meri jindagi sanvar gayi.

तेरे गुणों की जितनी तारीफ करूं उतनी ही कम है,
तेरे साथ रहने के लायक हम है।

Tere gunon ki jitni tarif karun utni hi kam hai,
Tere sath rahne ke layak hum hai.

जिंदगी में तारीफों के फुल तुम हो,
मेरे जीवन में आने की वजह मेरे यार तुम हो।

Zindagi me tarifo ke phul tum ho,
Mere jeevan me aane ki wajah mere yar tum ho.

तेरे तारीफ में क्या कहूं लाइन,
तुम बहुत हो फाईन।

Tere tarif me kya kahun line,
Tum bahut ho fine.

लोगों की तारीफे करते करते हम भी घायल हो गए,
आज हम लोगों की नजर मे शायर हो गए।

Logon ki tarif karte karte hum bhi ghayal ho gaye,
Aaj hum logon ki nazar me shayar ho gaye.

लोग हमारे बारे में बात करते है,
हम उनकी तारीफ सरेआम करते है।

Log hamare bare me bat karte hai,
Hum unki tarif sareaam karte hai.

किसी व्यक्ति की तारीफ में शायरी, किसी व्यक्ति की तारीफ में शब्द, किसी व्यक्ति की तारीफ में कविता, किसी की तारीफ में कुछ लाइन।

यह पढ़ें: खूबसूरती की तारीफ शायरी 2 लाइन

Leave a Comment